Connect with us

प्यार में दर्द भरी शायरी हिंदी में: Pyar Ka Dard Shayari In Hindi

प्यार में दर्द भरी शायरी हिंदी में

हैलो दोस्तो, आपको यहाँ प्यार में दर्द भरी शायरी हिंदी में: Pyar Ka Dard Shayari मिलेगी। उम्मीद है आपको पसंद आयेगी। या शायरी आपको इंटरनेट पर कही नहीं मिलेगी।

हमारे भरे हुए जाम में अपनों ने जहर मिला दिया दोस्तो,
जाम उठाने से पहले तुम उसमें नशा जरूर देख लेना।

क्या बात की है तूने, दिल में उतर गई,
अभी तो वो यहीं थी, जाने किधर गई।

रोटी सब्जी के बिना नहीं खाई जाती दोस्तो,
मुहब्बत दौलत के बिना नहीं पाई जाती दोस्तो।

ओ परदेश को जाने वाले कभी हमें भूल मत जाना,
आंखों से दूर जा रहे हो कहीं दिल से दूर मत कर देना।

मेरा जनाजा निकलेगा जिस रोज गली से तेरी,
आईने छूट जायेंगे हाथों से,
अश्क भी छलक आयेंगे आँखों से तेरी।

प्यार में दर्द भरी शायरी हिंदी में

तेरी बेवफाई मेरे दिल में धड़कनों की तरह समा गई,
मेरी जिन्दगी तेरे बिन टूटे फूल की तरह मुरझा गई।

इस दिल में तेरी यादों को छुपा रखा था,
आज तू उसे भी तोड़ चली।
कितना विश्वास था हमें तुम पर दोस्त,
तू हमारे साथ यह कैसा विश्वासघात कर चली।

दिल का तारा टूट गया तो क्या हुआ प्यारे,
हमारी वफाएँ भी जीने नहीं देगी उसे बिन हमारे।

हमने अपनी जिन्दगी की हर खुशी तेरे नाम कर दी,
तूने एक खुशी के लिए हमारी सारी खुशियां बरबाद कर दीं।

इस दिल को बड़ा गरूर था अपनी वफ़ा पर,
अच्छा किया तूने इसे तोड़ दिया राह पर।

बहार आई है गुलशन में पतझड़ छाने के बाद,
उसकी भी आँख भरी अफसोस मेरी आँखें बन्द होने के बाद।

दुख भरी शायरी: प्यार में दर्द भरी शायरी हिंदी में

दीपक से बत्ती जुदा हुई जिस रोज,
यह दीपक ही जानता है,
वो जिन्दा कैसे रहा उस रोज।

बेदर्दी ने जो गम दिये वो मौत से कम नहीं,
हम हंसने को बहुत हंसे मगर रोये भी कम नहीं।

मैं तो चला मजार में,
अब तो मुस्करा दे,
जिसके लिए मैं तरसा,
वो मीठी बोल सुना दे।

ज़माने में प्यार नहीं है सुनते थे तुम से कभी,
तुम्हे नफरत है हमसे कहते हैं ज़माने में सभी।

 सनम मेरा कोई नहीं तेरे सिवा दुनिया में,
इस निर्धन को तू रखना अपने दिल में।

इस दिलजले को हर शख्स ने जलाया,
यह तुम क्या जानों उस आग को हमने कैसे बुझाया।

हमें ज़िन्दगी से डर लगने लगा जब से उसने ठुकरा दिया,
किसे पीने का शौक था उसकी जुदाई ने पिला दिया।

प्यार में दर्द भरी शायरी हिंदी में

अपने हुस्न पर , क्यों गरूर करती हो,
जिस्म दिखा कर , क्यों मजबूर करती हो।

 वाह दुनिया के मालिक क्या खूब तूने रीत बनाई,
मुहब्बत निगाहें करती हैं और आग दिल में लगाई।

आईने के बदलते कभी तस्वीरें बदल जाती हैं,
यादें नहीं बदलतीं कभी मुसाफिर बदल जाते हैं।

फूल अगर टूट जाये तो बहारें साथ छोड़ जाती हैं,
दिल अगर टूट जाये खुशियां साथ छोड़ जाती हैं।

मुद्दत हो गई सूरत देखे यार की,
हमें जीने नहीं देती याद दिलदार की।

मुबारक हो यार तुझे सुरख जोड़ा गैरों का,
एक दिन बहुत तड़पाएगा तुझे प्यार अपनों का।

मैं तेरी खातिर अपनों से बेवफाई कर बैठा,
तू हमें छोड़कर बेदर्दी गैरों की डोली जा बैठी।

हवा में दीपक मत जलाना बुझ जायेगा यारो,
किसी पत्थर से दिल मत लगाना टूट जायेगा यारो।

दुख भरे शायरी

सारा संसार झूठा है किस पर करूं ऐतबार,
तभी हर फूल से नफ़रत है और कांटों से बहुत प्यार।

हर बाग फूल के बिना सूना लगता है,
हर आशिक भी मशूक के बिना तन्हा लगता है।

इस जाम के सहारे ही जी रहा हूं यारो,
जाम न आगर होता कब का मर गया होता यारो।

दीपक की तरह जला दिया है बेवफा ने हमें यारो,
अब शायद चित्ता की तरह जलाने का इरादा है उनका यारो।

फूल तो बहुत मिले मगर उस फूल जैसा कोई नहीं,
जिन्दगी में ग़म यूं बहुत मिले लेकिन उस ग़म जैसा कोई नहीं।

कभी हम भी मुहब्बत के गुलाम थे अपनों की खातिर,
आज हम आजाद हैं गैरों की खातिर।

जो फूल दिल को जख्मी कर दे उसे कभी प्यार न करो,
जो न पूरी हो कभी ऐसी तमन्ना न करो।

वो वायदा तो आने का कर गया था यारो,
अब तक उसी के इन्तजार में जी रहा हूं यारो।

प्यार में दर्द भरी शायरी हिंदी में

हम भी भूल सकते थे तुझे मगर भूल न सके,
दिल कहता प्यार अमर है इसलिए धोखा न दे सके।

अब आई हो हमसे नाता जोड़ने,
जब हम सारी दुनिया से नाता तोड़ चले।

आज क्यों रोती है यूं सिसक – सिसक कर,
जब हम तुझ से सारे बन्धन तोड़ चले।

इसे भी पढ़े:- Miss You Shayari

दुनिया को हम अपनी मुहब्बत की कुर्बानी दिखायेंगे,
हम यार के पसीने पर अपना खून बहायेंगे।

हुस्न एक फरेब है यह सिर्फ जिन्दगी बर्बाद करता है,
शबाब से अच्छी शराब है जो पीने बाद शाद करता है।

मुद्दत हो गई यार कि सूरत देखे खुदा,
कैसी मुहब्बत है यह हमें दिल से कर गया वो जुदा।

शायर ने शायरी करके खता तो नहीं की,
दिल में रखी चाहत उसकी दिल से खफा तो नहीं की।

शायरी दुख भरी: प्यार में दर्द भरी शायरी हिंदी में

आरजू ये है उनको हर नजर देखा करे,
हम भी उनके सामने हों वो जिधर देखा करें।

सम्भलना तो चाहा मगर सम्भल न पाया,
धोखा दिया जब अपनों ने मैं फिर बड़ा पछताया।

यह दीवाना दुनिया छोड़ जायेगा एक रोज तेरो खातिर,
तू कभी ग़म मत करना यूं ही मुस्कराती रहना मेरी खातिर

डरता हूं मुहब्बत से फिर तनहा न रह जाऊ ,
हमने पहले बड़े गम सहे हैं, दुबारा शायद सह न पाऊँ।

इतना घमण्ड करना था, अगर तुमने अपनी खूबसूरती पर,
फिर क्यों बेवफ़ा प्यार का जाल बिछाया मुझ पर।

हम तुम्हारी खातिर भूल गये दुनिया सारी,
तूने खूब अपनापन निभाया मुहब्बत भूल गई हमारी

हम भी जलते थे परवाने की तरह जमाने में दोस्तो,
शमां न आई परवाने को देखने कभी गरीबखाने में दोस्तो

कौन कहता है शराब जिन्दगी बरबाद करती है दोस्तो,
यह शराब ही ज़िन्दगी की डूबती किश्ती पार करता है दोस्तो!

प्यार में दर्द भरी शायरी हिंदी में

लोग कहते हैं मुहब्बत जिन्दगी सुधार देती है,
मगर हम कहते हैं मुहब्बत जिन्दगी बरबाद कर देती है ।

दूध के बिना चाय नहीं बन सकती,
मशूक के बिना जिन्दगी नहीं कट सकती।

मुझसे प्यार नहीं था अगर तो इतना दर्द क्यों दिया,
यूं ही तड़फता छोड़कर जाना था तो जहर क्यों नहीं पिला दिया।

हे खुदा ! हमें इतनी खुशियां मत देना के रोना आ जाये,
हम को इतने ग़म मत देना के वो सह ना पायें।

बेवफ़ा ले के तेरी यादों को दूर कहीं चला जाऊँगा,
गम की दुनिया में जाकर घर नया बसाऊँगा।

जिन्दगी रहती तो हम यह सितम भी देखते,
दूर से हम अपना यह बरबाद घर भी देखते।

इश्क की राहों में चल कर यह जाना,
प्यार तो दिल का दुश्मन है आज हमने पहचाना।

तुम्हें ओ बेवफा मैं कभी भूल न पाऊँगा,
तेरे हर सितम को रो – रो कर सह जाऊंगा।

दुख दर्द भरी शायरी

ऐ खुदा ! हम तेरी महफिल में फरियाद करते हैं,
वो मेरे दिल में कभी न आएं जिन्हें हम याद करते हैं।

जमीन पे गिरे हुए आसुओं को मैं उठा न सका,
दोस्तो वो बेवफा मेरी वाफा को समझ न सकी।

तुम इतना जो मुस्करा रहे हो,
क्या ग़म है जिसे छुपा रहे हो,
आँखों में नमी, हंसी लवों पर,
क्या हाल है, क्या दिखा रहे हो।

बन जाएंगे जहर पीते पीते,
ये अश्क जो पीते जा रहे हो,
जिन जख्मों को वक्त भर चला है,
तुम क्यों उन्हें छेड़े जा रहे हो।

बिजली को हाथ मत लगाना जल जाओगे यारो,
किसी बेदर्दी से दिल मत लगाना,
जिन्दा लाश बन जाओगे यारो।

अन्धेरी रातों में बैठ के हम रोये हैं यारो,
मुहब्बत में हमने भी अश्क बरबाद किये हजारों।

प्यार में दर्द भरी शायरी हिंदी में

शराब को मैं कभी पी न सकूँगा,
तुझसे बिछड़ के एक पल भी जी न सकूँगा।

लबों पर मुस्कान लाती हो,
अन्दर से, घबराती हो।
नजदीक तेरे तो, जाता नहीं,
फिर क्यों, पास बुलाती हो ।

डाली से टूटा फूल कभी डाली से नहीं लगता यारो,
किसी का दिल मत तोड़ना फिर जुड़ न पायेगा यारो।

जवानी चार दिन की मेहमान है,
यह एक दिन चली जायेगी दोस्तो।
जिन्दगी में कभी किसी से धोखा मत करना,
मौत भी एक दिन आयेगी दोस्तो।

मुझको गम देने वाले तूं जीये हजारों साल,
तू कभी गम मत करना मुझे जलाने के बाद।

मिलने को मिले हैं मगर बनके अजनबी वो दोस्तो,
दिल में अरमां बहुत थे होठों पे खमोशी रही दोस्तो।

दिल जब से टूट गया तब से मजा न रहा जीने में,
आग लगी हो दिल में फिर हरज क्या है पीने में।

दुख शायरी

वो अपना बन कर भी हमें अपना न सका,
किस्मत का लिखा आज तक कोई मिटा न सका ।

अपना था जो कभी आज वो भी बेगाना हो गया,
हे खुदा क्या सोचा था और क्या हो गया।

मुझे सिर्फ एक बार उस बेवफा से मिला दो यारो,
फिर शौक से तुम मुझ को जला दो मेरे यारो।

दीपक बुझाना था अगर तो उसे जलाया क्यों,
दिल तोड़ना था तो हमसे दिल लगाया क्यों।

इसे भी पढ़े:- Yaad Shayari In Hindi

इतना चाहकर हमें फिर क्यों भुला दिया,
यह तो मेरी खता थी बेवफा जो तुझसे दिल लगा दिया।

इतनी बड़ी महफिल में रब्बा,
हमें किसी का सहारा न मिला,
क्या यह अन्याय तूने किया,
हमें कोई हमारा न मिला।

हम तुम्हें दिन – रात पूजते रहे खुदा की तरह,
आज तूं हमें छोड़ चली गैरों की तरह।

दुख शायरी

तू खुश रहे मेरे यार हम सीने पे पत्थर रखकर जी लेंगे,
ज़ख्म दिये जो तूने उनको तन्हाईयों में बैठकर सी लेंगे।

टूटे हुए फूलों से खुशबू नहीं आती,
बिछडे हए साथी के बिना जिन्दगी नहीं मस्कराती ।

ज़माने को रुसवा करने का शौक होता है,
प्यार दिल में है फिर तूं क्यों रोता है।

मुस्तकिल हंसने की आदत से पता चलता है,
तुम ने सीने में कोई दर्द छुपा रखा है।

जिसने इस दीपक को जलाया मैं उसे कैसे भुला दूं,
काश कभी वो मिले मैं उसपे अपनी सारी ज़िन्दगी कुर्बान कर दूं।

हमारी नींदें हराम करने वाली,
खुदा करे तेरी नींद भी तुझसे जुदा हो जाये।
फिर तू रोज चाँदनी रातों में बैठकर,
हमारी तरह बेवफ़ा आँसू ही आँसू बहाये।

हमारे दिल का कैसे कत्ल हुआ यह तुम क्या जानो,
हम आज तक जिन्दा क्यों हैं यह तो राम जाने।

दुख पर शायरी: प्यार में दर्द भरी शायरी हिंदी में

मैं क्या बताऊँ वो क्या मुझपे मेहरबानी कर गया,
वो बेदर्दी बरबाद मेरी जिन्दगी कर गया ।

जमाने में हमें किसी का प्यार न मिला खुदा,
हम इतने बदनसीब थे जो अपनों से हमें कर दिया जुदा।

दिल की आग बुझती नहीं,
आके इसे बुझा जा,
मर्द खुद को कहते हो,
तो मेरे आगोश में आजा।

धूप यह फूल भरी बहार में मुरझा गया दोस्तो,
उस बदनसीब को कितना दर्द है यह तुम क्या जानों दोस्तो।

जिन्दगी के हर मोड़ पे हमने मौत से दोस्ती करनी चाही,
मैं क्या करूं बेवफा तेरी याद साथ नहीं छोड़ना चाहती।

घर हमारा भरी बहार में टूट गया,
तूफान ऐसा आया उन टुकड़ों को भी उड़ा ले गया।

Sad shayari

कुछ लोग अपनो की खातिर गैरों से लड़ते हैं,
उनको देखो वो गैरों की खातिर हमसे लड़ते हैं।

वो हमारा दिल ले के मुकर गया यारो,
मैं दुनिया में जिन्दा लाश बन कर रह गया यारो।

तेरी जुदाई में हम अश्कों को ही जाम समझ लेते,
तेरी यादें न होती अगर बेवफा तो कफन पहन लेते।

धूप में खड़े रहोगे तो पसीना आयेगा दोस्तो,
किसी पत्थर से दिल लगाओगे तो ज़ख्म भी खाओगे दोस्तो।

हर एक मोड़ पर किसी ने इस दिल को सताया है,
खुदा उसे कभी माफ नहीं करेगा जिसने मुझको तड़फाया है।

रोज़ इस दिल में बैठने वाले आज,
गैरों की महफिल में जा बैठे।

दुख की शायरी

हम उनकी खुशी के लिए यारो,
अपनी खुशियां को कफन पहना बैठे।

प्यार करोगे तो ग़म भी मिलेगा,
बहारों ने चाहा तो मुरझाये फूल भी खिलेंगे।

वो सामने धरी है सुराही भरी हुई,
दोनों जहां हैं आज मेरे अख्तयार में।

तुम भूल कर भी ऐसी खता मत करना,
जो फूल दिल को जख्मी कर दे उनसे प्यार मत करना।

इसे भी पढ़े:- Dard Bhari Shayari In Hindi

हमने भी फूल चुने थे प्यार की सेज सजाने के लिए,
बहारें कुछ ऐसी आईं फूल बिखर गये सारे एक खुशी के लिए!

खिलौना जान कर वो मेरा दिल तोड़ गई,
ग़म से भिगा हर मौसम वो मेरे लिए छोड़ गई।

मेरे मरने की खबर सुनकर आज मेरे दुश्मन भी रोते हैं,
उनको देखो दोस्तो वो गैरों के साथ जशन मनाते हैं।

मैंने शराब को जहर का नाम देकर ठुकरा दिया यारो,
आज पता चला वो तो जख्मी दिल की दवा होती है यारो।

Sad shayari

चिता में लगती आग नहीं,
ऐसा मैंने पाप किया,
ऐ खुदा मुझे माफ कर,
कैसा तूने शाप दिया ।

मत लो नाम वफा का वो हम कर चुके है।
बेवफ़ा की नजरों में जिन्दा हैं अपनी नजरों पर में मर चुके चुके हैं।

गैरों की डोली बैठने से पहले इतना तो सोच लिया होता,
खुद नहीं अगर आ सकती थी लाश से मेरी,
बेवफ़ा कफन ही भेज दिया होता है!

वो तो छोड़ गया हमें गैर समझ के, ऐ यार!
तूं क्यों रोता है उसे याद करके।

दुश्मनी जम कर करो पर इतनी गुंजाइश रहे,
जब कभी फिर दोस्त बन जाएं तो शर्मिन्दगी न रहे!

मैं भी अपने पर खूब इतराया करता था कभी,
हार गया बेवफा तेरो मुहब्बत के आगे अधी।

सोचा करता था अब तक मेरे हैं सब इस दुनिया मे,
दिल टूट गया तब पता चला में भी अनाथ था दुनिया में।

धोखा शायरी: प्यार में दर्द भरी शायरी हिंदी में

आप जिनके करीब होते हैं,
वो लोग बड़े खुशनसीब होते हैं।

प्यार कोई खेल नहीं,
क्यों समझ वो ये नहीं पाता है,
हम उसे प्यार करते हैं और वो खेल खेलता जाता है।

ओढ़ रखा था कफन मैंने तेरे नाम का,
जला दिया वो कफ़न यारों ने तेरे यार का।

मैं मानता हूं मने खता की है,
तूने तो बेवफाई की मगर हमने फिर भी वफ़ा की।
दुखियों को दुःख था जमाने को पता चल गया,
मेरी वफ़ा का कफन भी मेरे साथ जल गया।

कभी हम मुहब्बत का नाम लेकर जीते थे यारो,
अब वफ़ा के नाम से भी डर लगने लगा यारो।

दीवारें ईंटों की बनाई जाती हैं पत्थरों की नहीं,
मुहब्बत दिल वालों से की जाती है बुजदिलों से नहीं।

मुझे शिकवा गैरों से क्या जब अपनों ने हमें समझा नहीं,
प्यार से गिला क्या करना जब प्यार जिन्दगी में नहीं ।

हम कभी आप थे आज तुम हो गये,
वो क्या थे रब्बा आज क्या हो गये।

दूर से देखा मेरा मईय्यत को,
पास वो आ न सका,
यारों ने जला दी लाश मेरी,
फिर भी वो चार आंसू बहा न सका।

Sad shayari

जिन्दगी जीने के लिए जहर सा पी लेता हूं,
बैठ कर चांदनी रातों में बेवफ़ा के जख्मों को सी लेता हूं।

जो दिलजले को जलायेगा मैं उस दिल को जला दूंगा,
डोली उठेगी जो दुनिया से तेरी मैं उस दुनियां को जला दूंगा।

खार तो जख्म देते हैं मैंने फूलों से ज़ख्म खाये हैं,
ठुकराते तो बेगाने हैं हम अपनों के ठुकराये हैं।

अब के बिछड़े शायद कभी ख्यालों मे मिलें,
जिस तरह सूखे हुए फूल किताबों में मिलें।

प्यार में धोखा मिला शायरी

शीतल चन्दा अग्नि बन गये, कांटे बन गये फूल,
प्यार न करना तू किसी से, प्यार है मन को भूल।

जब भी मयखाने से पीकर हम चले,
साथ लेकर सैंकड़ों आलम हम चले।
थक गये थे जिन्दगी की राह में,
होके मयखाने से ताज़ा दम चले।

शाम होते ही यह दिल उदास होता है,
टूटे ख्वाबों के सिवाए कुछ न पास होता है।
तुम्हारी याद ऐसे वक्त बहुत आती है,
जब कोई भी नहीं आस – पास होता है।

जितने ग़म जालिम ज़माने ने दिये,
दफन करके मयखाने में हम चले।
पीने वालों को मौसमों की कैद क्या,
आज तो इस दौर पे मौसम चले।

इसमें वो रंग है वो मस्ती है न छोड़ी जाये,
ये शराब आप के जैसी है जो न छोड़ी जाये।
महफिलें गईं, हंगामे छूटे, दोस्त छूटे,
इक मुहब्बत तेरी ऐसी है जो न छोड़ी जाये ।

अगर आपको ये प्यार में दर्द भरी शायरी हिंदी में: Pyar Ka Dard Shayari In Hindi पसंद आये तो प्लीज लाइक और शेयर करे…

Trending

#Hindi Shayari love Shayari

Love Shayari In Hindi

#Hindi Shayari love Shayari

Romantic Shayari In Hindi

#Hindi Shayari Sad Shayari

Miss You Shayari